Urdu & Hindi Stories - Stories.pk
http://www.stories.pk/urdu-hindi/

अब तो जाते हैं मैकदे से ''मीर'' - Hindi-Urdu Shayari
http://www.stories.pk/urdu-hindi/hindi-urdu-shayari-t12631.html
Page 1 of 1

Author:  nahiaali [ Fri Jun 25, 2010 10:20 am ]
Post subject:  अब तो जाते हैं मैकदे से ''मीर'' - Hindi-Urdu Shayari

अब तो जाते हैं मैकदे से ''मीर''
फिर मिलेंगे गर खुदा लाया
- मीर



कहां मैखाने का दरवाजा ''गालिब'' और कहां वाइज
पर इतना जानते हैं कल वो जाता था कि हम निकले
- गालिब



मैखाना-ए-हस्ती में अक्सर, हम अपना ठिकाना भूल गए
या होश से जाना भूल गए, या होश में आना भूल गए
- अदम



नशा पिला के गिराना तो सब को आता है
मजा तो जब कि गिरतों को थाम ले साकी
- अब्दुल हमीद ''अदम''


What are your comments about these Hindi-Urdu Shayari?

Page 1 of 1 All times are UTC + 5 hours
Powered by phpBB © 2000, 2002, 2005, 2007 phpBB Group
http://www.phpbb.com/