Urdu & Hindi Stories - Stories.pk
http://www.stories.pk/urdu-hindi/

बेवफा भी हो सितमगर भी जफा पेशा भी - Hindi-Urdu Poetry
http://www.stories.pk/urdu-hindi/hindi-urdu-poetry-t12624.html
Page 1 of 1

Author:  nahiaali [ Fri Jun 25, 2010 10:17 am ]
Post subject:  बेवफा भी हो सितमगर भी जफा पेशा भी - Hindi-Urdu Poetry

बेवफा भी हो सितमगर भी जफा पेशा भी
हम खुदा तुम को बना लेंगे तुम आओ तो सही
- मुमताज मिर्जा



आप को भूल जायें हम इतने तो बेवफा नहीं
आप से क्या गिला करें आप से कुछ गिला नहीं
- तस्लीम फाज्ली



आ के अब तस्लीम कर लें तू नहीं तो मैं सही
कौन मानेगा कि हम में बेवफा कोई नहीं
- अहमद फराज



हम बा-वफा थे इसलिए नजरों से गिर गये
शायद तुम्हें तलाश किसी बेवफा की थी
- अज्ञात



What are your comments about these Hindi-Urdu Poetry?

Page 1 of 1 All times are UTC + 5 hours
Powered by phpBB © 2000, 2002, 2005, 2007 phpBB Group
http://www.phpbb.com/